meta

क्या विटामिन ई (Vitamin E) महत्वपूर्ण है

विटामिन ई कई रूपों में वसा में घुलनशील विटामिन है, लेकिन मानव शरीर द्वारा उपयोग किया जाने वाला एकमात्र अल्फा-टोकोफेरोल है। इसकी मुख्य भूमिका एक एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करना है, ढीले इलेक्ट्रॉनों को साफ करना – तथाकथित “मुक्त कण” – जो कोशिकाओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं। [1] यह प्रतिरक्षा कार्य को भी …

क्या विटामिन ई (Vitamin E) महत्वपूर्ण है Read More »

विटामिन डी (Vitamin D) की पूरी जानकारी

मजबूत हड्डियों के लिए विटामिन डी आवश्यक है, क्योंकि यह शरीर को आहार से कैल्शियम का उपयोग करने में मदद करता है। परंपरागत रूप से, विटामिन डी की कमी रिकेट्स से जुड़ी हुई है, एक ऐसी बीमारी जिसमें हड्डी के ऊतक ठीक से खनिज नहीं होते हैं, जिससे नरम हड्डियां और कंकाल विकृतियां होती हैं। …

विटामिन डी (Vitamin D) की पूरी जानकारी Read More »

विटामिन सी (Vitamin C) क्यों महत्वपूर्ण है

विटामिन सी क्या है? क्या सूंघने पर ओजे या विटामिन सी की गोलियां आपके लिए उपयुक्त हैं? इस विटामिन पर लोड करना 1970 के दशक में लिनुस पॉलिंग द्वारा प्रेरित एक अभ्यास था, जो एक डबल नोबेल पुरस्कार विजेता और विटामिन सी के स्व-घोषित चैंपियन थे, जिन्होंने सर्दी और कुछ पुरानी बीमारियों को रोकने के …

विटामिन सी (Vitamin C) क्यों महत्वपूर्ण है Read More »

विटामिन बी (Vitamin B) का महत्व

आप शायद विटामिन बी 6 और बी 12 से परिचित हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं कि वास्तव में आठ बी विटामिन होते हैं? बी1 (थियामिन) बी 2 (राइबोफ्लेविन) बी3 (नियासिन) बी5 (पैंटोथेनिक एसिड) बी6 (पाइरिडोक्सिन) बी7 (बायोटिन) बी 9 (फोलेट [फोलिक एसिड]) बी12 (कोबालिन) ये विटामिन विभिन्न प्रकार के एंजाइमों को अपना काम करने …

विटामिन बी (Vitamin B) का महत्व Read More »

विटामिन ए(Vitamin A) का महत्व

विटामिन ए क्या है और यह क्या करता है? विटामिन ए एक वसा में घुलनशील विटामिन है जो कई खाद्य पदार्थों में स्वाभाविक रूप से मौजूद होता है। विटामिन ए सामान्य दृष्टि, प्रतिरक्षा प्रणाली और प्रजनन के लिए महत्वपूर्ण है। विटामिन ए हृदय, फेफड़े, गुर्दे और अन्य अंगों को ठीक से काम करने में भी …

विटामिन ए(Vitamin A) का महत्व Read More »

सार्स (SARS) होम्योपैथी उपचार

परिचय: सार्स सीवियर एक्यूट रेस्पिरेटरी सिंड्रोम का संक्षिप्त रूप है। सार्स एक श्वसन रोग है जो चिकित्सा जगत को पहले कभी नहीं पता था, इससे पहले मार्च 2003 में पहली बार इसकी सूचना दी गई थी। सार्स को सबसे पहले ग्वांगडोंग प्रांत (चीन), हनोई (वियतनाम) में रिपोर्ट किया गया था और हांगकांग, उत्तरी अमेरिका में …

सार्स (SARS) होम्योपैथी उपचार Read More »

बवासीर (PILES)

बवासीर बवासीर के लिए एक और शब्द है। बवासीर गुदा नहर में सूजन वाले ऊतकों का संग्रह है। इनमें रक्त वाहिकाएं, सहायक ऊतक, मांसपेशियां और लोचदार फाइबर होते हैं। कारण कब्ज में मल निकालने के लिए जोर लगाना।अति शुद्धिकरण – बृहदांत्रशोथ, पेचिश आदि का दस्त।कम मोटा आहार।गर्भावस्था।मलाशय का कैंसर। गुदा के आसपास और मलाशय में …

बवासीर (PILES) Read More »

लीवर सिरोसिस (Liver Cirrhosis)

लीवर सिरोसिस क्या है? लीवर मानव शरीर की सबसे बड़ी ग्रंथि है। लीवर का ‘सिरोसिस’ एक ऐसी स्थिति है जिसमें लीवर के सामान्य ऊतक क्षतिग्रस्त हो जाते हैं और निशान ऊतक द्वारा प्रतिस्थापित हो जाते हैं।स्वस्थ यकृत कोशिकाओं को बहुत धीमी और क्रमिक प्रक्रिया में फाइब्रोटिक निशान ऊतक से प्रतिस्थापित किया जाता है। यकृत कोशिकाओं …

लीवर सिरोसिस (Liver Cirrhosis) Read More »

मुंह के छालों (Mouth Ulcers) का होम्योपैथिक उपचार

बार-बार मुंह में छाले होना कई लोगों के लिए एक आम समस्या है। छोटा या बड़ा, एक बार में एक या कई, कम समय तक चलने वाला या कुछ दिनों तक चलने वाला, दर्दनाक या न ही दर्दनाक, इस स्थिति की कुछ विशेषताएं हो सकती हैं। चिकित्सकीय रूप से, इस स्थिति को एफ्थस स्टामाटाइटिस भी …

मुंह के छालों (Mouth Ulcers) का होम्योपैथिक उपचार Read More »

माइग्रेन(Migraine) से निदान पाए

माइग्रेन क्या है? माइग्रेन एक जटिल स्थिति है जो गंभीर धड़कते दर्द या बेचैनी की धड़कन का कारण बनती है, जो अक्सर सिर के दोनों ओर होती है। माइग्रेन की विशेषता सिरदर्द के बार-बार होने वाले हमलों से होती है, जिसमें परिवर्तनशील तीव्रता, आवृत्ति और प्रत्येक हमले की अवधि होती है। माइग्रेन के प्रकार: ऑरा …

माइग्रेन(Migraine) से निदान पाए Read More »

Call Now Button